इंटरनेट

यूपीआई क्या है? UPI Full Form क्या होती है?

नमस्कार दोस्तो, कुछ साल पहले हम सभी ऑनलाइन लेनदेन करने से डरते थे परंतु आज के समय में हम सभी ऑनलाइन लेनदेन करने को बढ़ावा दे रहे है। आपने भी ऑनलाइन लेनदेन करने के लिए UPI का इस्तेमाल जरूर किया होगा तो आपने यह जरूर सोचा होगा की यह यूपीआई क्या (What is UPI) होती है यूपीआई की फुल फॉर्म क्या (UPI Full Form in Hindi) होती है? हम आज के इस आर्टिक्ल में आपको यूपीआई से जुड़ी सभी जानकारी देने वाले है।

यह जरूर पढ़ें – 

लाखों में ट्रेफिक वाले 9+ हिन्दी ब्लॉग। Top 9+ Indian Hindi Blog List

इंटरनेट पर ब्लॉगिंग से पैसे कमाने के 5 तरीके

ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं। Online Paise Kaise Kamaye

यूट्यूब से पैसे कैसे कमाए | Youtube se Paise Kaise Kamaye.

आज हम सभी भीम एप्प, गूगल पे तथा फोन पे से खरीददारी करते समय रुपयों का भुगतान करते है। आज से तीन साल पहले नोटबंदी हुई थी, इससे पहले सभी लोगो का ऑनलाइन लेनदेन पर इतना विश्वास नहीं था। नोटबंदी के आते ही Paytm जैसे Onlien Money Transfer करने वाले प्लैटफ़ार्म को काफी ज्यादा बढ़ावा दिया गया था। नोटबंदी के कारण ही Paytm सफल हुआ था। नोटबंदी के बाद हमें ऑनलाइन भुगतान करने की आदत पड़ गयी थी, जिस कारण भीम एप्प, फोन पे, गूगल पे तथा पेटिएम जैसे एप्लिकेशन आ गए जिनकी मदद से हम अपने बैंक अकाउंट से सीधा मोबाइल से ही पैसा ट्रान्सफर कर सकते है।

ऑनलाइन पैसे ट्रान्सफर करने के लिए आपको प्रत्येक एप्लिकेशन में यूपीआई का इस्तेमाल करना पड़ता है। यूपीआई के बिना किसी भी पेमेंट गेटवे से पेमेंट ट्रान्सफर करना संभव नहीं है। प्रत्येक पेमेंट गेटवे के लिए एक यूपीआई आईडी होनी जरूरी है। आज के समय में डिजिटल इंडिया के तहत काफी सारे UPI App जैसे Bhim Payment App भारतीय यां स्वदेशी है। भारत सरकार भी आज इन भारतीय पेमेंट गेटवे से लेनदेन करने को बढ़ावा दे रही है। तो चलिये अब जानते है यूपीआई के बारे में विस्तार से

यूपीआई क्या है? What is UPI in Hindi

UPI एक ऐसा तरीका है जिसके माध्यम से आप किसी भी पेमेंट गेटवे के द्वारा अपने बैंक अकाउंट से पैसे किसी दूसरे बैंक अकाउंट में आसानी से ट्रान्सफर कर सकते है। इसमें आपको पैसे ट्रान्सफर करने के लिए अपने दोस्त, जानकार के बैंक अकाउंट यां उसकी यूपीआई आईडी का पता होना जरूरी है। यूपीआई की शुरुआत 2015 के अंदर भारत के राष्ट्रीय भुगतान निगम तथा भारतीय रिजर्व बैंक के द्वारा की गयी थी। जिसे इंग्लिश में National Payments Corporation of India (NPCI) कहा जाता है।

यूपीआई को विशेष रूप से मोबाइल के द्वारा ऑनलाइन लेनदेन करने के लिए बने गया था, इसमें आपको किसी भी प्रकार की बैंक डिटेल, आईएफ़एससी कोड की जरूरत नहीं पड़ती है बस आप एक यूपीआई आईडी के द्वारा पैसे ट्रान्सफर कर सकते है। वैसे तो यूपीआई की शुरुआत 2015 में कर दी गयी थी परंतु 2015 तक भारत में ऑनलाइन लेनदेन पर ज्यादा विश्वास नहीं किया जाता था तथा असुरक्षित भी माना जाता था। परंतु 2016 में की गयी नोटबंदी ने यूपीआई तथा ऑनलाइन लेनदेन को बढ़ावा देते हुए इसके स्वर्णिम वक्त की शुरुरात कर दी थी।

यूपीआई की फुल फॉर्म क्या है? UPI Full Form in Hindi?

किसी भी छोटे शब्द का बहुत बड़ा अर्थ होता है उसी प्रकार UPI का भी एक Mean है। यूपीआई की हिन्दी में फुल फॉर्म एकीकृत भुगतान अन्तरापृष्ठ है। UPI Full Form in English UNIFIED PAYMENT INTERFACE बनती है।

यूपीआई आईडी क्या होती है? यूपीआई अकाउंट क्या है?

अगर आप यूपीआई का इस्तेमाल करते है तो आपको यूपीआई आईडी क्या(What is UPI ID) होती है इसके बारे में पता होना जरूरी है। जिस प्रकार हम किसी के अकाउंट में बैंक में जाकर पैसे डलवाते है तो हमारे पास इस अकाउंट के अकाउंट नंबर, आईएफ़एससी कोड होना जरूरी है उसी प्रकार से यूपीआई आईडी ऑनलाइन पैसे का लेनदेन करने के लिए इस्तेमाल की जाती है। यूपीआई से ऑनलाइन लेनदेन करने के लिए बैंक अकाउंट नंबर की जगह पर यूपीआई आईडी का इस्तेमाल किया जाता है।

यूपीआई आईडी एक ईमेल एड्रैस की तरह ही होता है जो प्रत्येक यूपीआई यूजर को युनीक मिलता है। इस यूपीआई आईडी को आप बादल भी सकते है। प्रत्येक यूपीआई एप्प के द्वारा अपनी एक यूपीआई आईडी दी जाती है। जिसका इस्तेमाल हम पैसा ट्रान्सफर करने के लिए कर सकते है, अगर आप यूपीआई आईडी का इस्तेमाल करते है तो आपको पैसे ट्रान्सफर करने के लिए बैंक खाते के नंबर तथा आईएफ़एससी कोड की बिलकुल भी जरूरत नहीं पड़ती है।

UPI ID Example – [email protected], [email protected] ये उधारण है आपकी यूपीआई आईडी कुछ इस प्रकार से होगी।

यूपीआई आईडी कैसे बनाए? How to Create UPI ID?

यूपीआई आईडी बनाने के लिए अलग अलग पेमेंट गेटवे में अलग अलग प्रकार से सेटअप करना होगा। परंतु सभी App पे आप UPI ID बनाने के प्रोसैस को एक समान ही मान सकते है। आज हम आपको डिजिटल इंडिया के तहत स्वदेशी भीम एप पर यूपीआई आईडी कैसे बनाए इसके बारे में बताने वाले है। यूपीआई आईडी क्रिएट करने के लिए आपके पास आपका एटीएम कार्ड होना जरूरी है। आपने अपने बैंक अकाउंट में जो मोबाइल नंबर दिया है उसी नंबर पर आप यूपीआई आईडी क्रिएट कर सकते है। इसलिए जो नंबर बैंक अकाउंट से जुड़ा है उसी पर यूपीआई आईडी बनाए।

  • सबसे पहले अपने मोबाइल के अंदर प्ले स्टोर से भीम एप्प को इन्स्टाल करना है। इन्स्टाल करने के बाद आप आपने इस एप्प को खोलना है इसमें आपको शुरुआत में अलग अलग भारतीय भाषाएँ दिखाई देगी। आप जिस भाषा में भीम एप्प को चलाना चाहते है यान आप जो भाषा समझते है उसे सिलैक्ट कर लें। सिलैक्ट करने के बाद आपने कुछ एक्सैस इस एप्प को देने होंगे।
  • दूसरे स्टेप में आपने जिस सिम पर यूपीआई आईडी (UPI ID Create) करनी है उसे चुन लें। जिसके बाद आपने सिम कन्फ़र्म करनी है कि आपने सही सिम का चुनाव किया है। और Proceed पर क्लिक कर दें। जिसके बाद आपकी सिम वेरिफ़ाई हो जाएगी।
  • इसके बाद आपने Add Bank Account वाले ऑप्शन पर जाना होगा जहां पर आपने जो बैंक अकाउंट यूपीआई आईडी के साथ जोड़ना चाहते है उसे सिलैक्ट कर लें। सिलैक्ट करने के बाद आपने कुछ बैंक कि डीटेल भरनी होगी, आप इस डीटेल को भरने के बाद आपको पासवर्ड यां पिन जनरेट करने को कहा जाएगा।
  • अब आपने अपने यूपीआई आईडी के लिए 4 अंको का ऐसा पिन जनरेट करना है जो आप हमेशा याद भी रख सके। इसके साथ साथ आप जितना ज्यादा हो सके उस पिन को स्ट्रॉंग जनरेट करें।

इस प्रकार आपने अपने भीम एप्प के लिए यूपीआई आईडी को बनाकर उसका पिन जनरेट कर लिया है। आप हमेशा इस बात का ध्यान रखे कि आपने जो यूपीआई पिन जनरेट किया है उसे दूसरों के साथ बिलकुल भी साझा न करें। क्योंकि इससे आपके अकाउंट के साथ छेड़छाड़ कि जा सकती है।

यूपीआई कैसे करें? UPI से पैसे कैसे भेजें?

UPI का इस्तेमाल करना काफी आसान है, इसके लिए आपके मोबाइल के अंदर कोई भी यूपीआई एप्लिकेशन इन्स्टाल होना जरूरी है। हम आपको आज भीम एप्प के द्वारा यूपीआई से पैसे भेजने के बारे में बताने वाले है।

  • सबसे पहले आपको भीम एप्प को मोबाइल में चलाना होगा, इसके बाद सबसे पहले आपसे आपके भीम यूपीआई आईडी के पासवर्ड मांगे जाते है। अगर आप सही पासवर्ड दर्ज करते है तभी यह Application Open होगी। अगर आप गलत पासवर्ड दर्ज करते है तो एप्प नहीं खुलेगी इसलिए आपने सही पासवर्ड दर्ज करके एप्प को खोलना है।
  • भीम एप्प के ओपें होने के बाद आपको भीम एप्प के इंटरफ़ेस में राइट साइड में Send तथा Scan के दो ऑप्शन दिखाई देंगे। आपने पैसे भेजने के लिए Send वाले ऑप्शन पर क्लिक करें। स्कैन वाले ऑप्शन में आप किसी दुकान से खरीददरी करने के बाद उस दुकान के भीम एप्प के QR Coad को स्कैन करके भी पैसे ट्रान्सफर कर सकते है। परंतु हम किसी दूर बैठे व्यक्ति को पैसा भेजना चाहते है तो हमें Send पर क्लिक करना होगा।
  • इसमें आपके पास Contact तथा Account Number दोनों के द्वारा रुपए भेज सकते है। आपने जिसको रुपए भेजने है उसके BHIM App से जुड़े मोबाइल नंबर को चुन लें और उसके बाद जीतने रुपए भेजने है वो भेज दें।
  • आप अकाउंट के द्वारा रुपए भेजने के लिए सबसे पहले बैंक को सिलैक्ट करें, बैंक को चुनने के बाद आप IFSC Coad, Account Number, Account Holder का नाम लिखकर पैसे भेज सकते है।

इस प्रकार आप अपने अकाउंट से किसी दोस्त, दुकानदार को आसानी से UPI से Money Transfer कर सकते है, इसमें काफी कम वक्त लगता है।

ध्यान रखने योग्य बात – आप जब भी UPI से Money Transfer करें तो अपने पिन को सभी के सामने न लगाए। पैसे भेजने से पहले अच्छे से भेजने वाले के नंबर को जरूर चेक कर लें ताकि किसी गलत व्यक्ति के पास पैसे ट्रान्सफर न हो जाए।

UPI तथा Net Banking में क्या फर्क है?

आपके और मेरे दिमाग में यह सवाल जरूर आता है कि जब हम नेट बैंकिंग से भी पैसा ट्रान्सफर कर सकते है तो फिर यूपीआई कि जरूरत क्यों पड़ी, यूपीआई और नेट बैंकिंग में ऐसा कोनसा फर्क है। जैसा कि हम सभी जानते है यूपीआई तत्काल भुगतान सेवा प्रणाली पर आधारित है अर्थात यूपीआई के द्वारा जो भी पैसा भेजा जाता है वह उसी समय जिसे भेजा जाता है उसके खाते में चला जाता है। UPI IMPS कि English में Full Form Immediate Payment Service System है।

यूं तो यूपीआई तथा नेट बैंकिंग दोनों का इस्तेमाल हम सभी जब चाहे कर सकते है। ये सभी पेमेंट गेटवे उस समय भी काम करते है जब बैंक कि छूटी होती है यां रात के समय में बैंक में कोई नहीं होता तब भी आप UPI तथा Net Banking से पैसे भेज सकते है। परंतु फिर भी इन दोनों में कुछ फरक है।

UPI Net Banking
UPI में आप बिना बैंकिंग डिटेल भरे पैसे भेज सकते है। इसमें आपको सारी बैंक डिटेल भरनी पड़ती है।
इसमें आपके द्वारा भेजा गया पैसा तत्काल पहुँच जाता है। नेट बैंकिंग में 4 घंटे के बाद में पैसा दूसरे खाते में जाता है।
यह काफी तेज प्रोसैस के साथ काम करता है। यह UPI से काफी ज्यादा धीमा है
UPI App का इस्तेमाल करना काफी आसान होता है। इसे समझने में दिक्कत आती है।
इसका इंटरफ़ेस काफी सरल है। Net Banking में आपको इसके इंटरफ़ेस को समझना कठिन होता है।
इसमें आप एक लाख रुपए तक कि लिमिट तक बिना शुल्क के पैसा भेज सकते है। इसमें लिमिट नहीं होती है

 

यूपीआई के माध्यम से आप एक लाख रुपए तक कि ट्रांजेकश्न कर सकते है। एक लाख रुपए के बाद आपकी प्रत्येक ट्रांजेकश्न पर 50 पैसे चार्ज लगाना शुरू हो जाता है। यह चार्ज जफ़ी कम है, जिसके बावजूद भी आप तत्काल पैसा भेज सकते है। यानि आपको जल्दी से पैसा भेजने के बदले में किसी भी प्रकार कि फीस का भुगतान भी नहीं करना पड़ेगा। इसलिए ज़्यादातर लोग नेट बैंकिंग पर बैंक से जुड़ी सभी डिटेल नहीं दे पते है इसलिए UPI का इस्तेमाल करते है। क्योंकि आपने अपने बैंक कि डिटेल तो याद भी कर ली परंतु जिसे भेजना है उसके बैंक कि डिटेल, आईएफ़एससी कोड के बारे में याद रख पाना कठिन है। तो आज के समय में समय कि सबसे ज्यादा कीमत है इसलिए समय को बचाने के लिए हम सभी ऑनलाइन यूपीआई का इस्तेमाल करके पैसे भेजते है।

VPA क्या है? Full Form of VPA in Hindi

आपने Full Form of UPI तो जान ही ली है तो आपको बता दें की UPI ID को ही VPA कहा जाता है, VPA Full Form Virtual Payment Address होता है। यह आपके लिए प्रत्येक बैंक के द्वारा युनीक दिया जाता है। जैसे आपका Paytm Bank के अंदर Account है तो आपकी VPA [email protected] होगी। इसके अंदर abcd आपके लिए एक युनीक कोड है तथा पेटिएम कि जगह पर आपका बैंक का नाम होगा।

यूपीआई कोड क्या है? What is UPI Pin in Hindi?

दोस्तो हम जब भी एटीएम से पैसे निकलवाते है तो पैसे निकालते समय हमें एक 4 अंको का कोड डालना होता है उसी प्रकार जब हम यूपीआई के द्वारा पेमेंट करते है तो उसमें भी पैसे का लेनदेन करते समय हमें एक 4 यां 6 अंको का Security Code देना पड़ता है जिसके बाद ही पैसे भेजने की प्रक्रिया पूरी होती है। इस पिन की जरूरत इसलिए पड़ती है की पैसे का लेनदेन करने वाला व्यक्ति उस खाते का मालिक यां अधिकृत है क्योंकि उसे यूपीआई पिन पता है।

यूपीआई पिन को आप अपने मोबाइल के द्वारा आप खुद Generate कर सकते है। अपने यूपीआई पिन को किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहिए ताकि आपके यूपीआई अकाउंट तक किसी भी व्यक्ति की पहुँच न हो सके। जब आपका मोबाइल फोन खो जाए तो ऐसी स्थिति में यूपीआई पिन पता नहीं होने के चलते दूसरे व्यक्ति को अगर आपका मोबाइल मिलता है तो वह आपके अकाउंट से पैसे ट्रान्सफर नहीं कर सकता है।

यूपीआई आईडी के क्या फायदे है?

आपको UPI ID के द्वारा पेमेंट करने के काफी सारे फायदे होते है। क्योंकि इसका उपयोग करना भी आसान और सरल है। तो चलिये हम यूपीआई के कुछ बड़े फ़ायदों के बारे में जानते है।

  • यूपीआई का पहला फायदा तो यही है कि आप इसकी मदद से कभी भी रुपए ट्रान्सफर कर सकते है क्योंकि यह 24 घंटे 7 दिन चलाने वाला है। इसके द्वारा लेनदेन बड़ी जल्दी से हो जाता है।
  • यूपीआई का इस्तेमाल करते समय आपको यह देखने कि जरूरत नहीं पड़ेगी कि आज बैंक कि छूटी है यां नहीं
  • इसका उपयोग काफी आसान है साथ ही इसे बहुत ज्यादा सिक्युर माना जाता है। जिस वजह से आपके बैंक से किसी भी प्रकार का गलत उपयोग नहीं किया जा सकता है।
  • इसमें आपको पैसे ट्रान्सफर करने के लिए काफी सारी बैंक डिटेल नहीं दलनी पड़ती है जिस वजह से आपका समय भी बचता है और आपको किसी के अकाउंट कि डिटेल जानने कि भी जरूरत नहीं पड़ती है।
  • इसमें आपके द्वारा भेजा गया पैसा सीधे आपके बैंक में जाता है किसी थर्ड पार्टी एप्प में नहीं जाता है।
  • इसके द्वारा आप बिजली बिल भुगतान, लेनदेन, मोबाइल रीचार्ज सब कुछ कर सकते है। साथ ही इसमें आपको Money Request का ऑप्शन भी मिलता है जिसकी मदद से आप किसी से पैसा भी ले सकते है।

ऐसे काफी सारे फायदे है जो हमें यूपीआई का इस्तेमाल करते समय पता चलता है। परंतु फिर भी इसका उपयोग ध्यान से करना चाहिए क्योंकि जिस चीज के फायदे होते है उसके कुछ नुकसान भी जरूर होते है।

UPI ID को स्वीकार करने वाले बैंक

आज के समय में लगभग सभी बैंक ऑनलाइन लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए यूपीआई को स्वीकार करते है इसमें मुख्य रूप से जो बैंक है उनकी सूची नीचे दी गयी है।

Aditya Birla Payments BankAllahabad Bank UPI
Axis PayHDFC Bank MobileBanking
PNB UPIPSB UPI
SBI PayUnion Bank UPI
Yes PayBaroda MPay
Canara Bank UPI – EmpowerBHIM
Dena Bank E-UPIGoogle Pay
PaytmPhonePe

 

इसके अलावा भी काफी सारे बैंक है जो UPI को सपोर्ट करते है अगर आप इन बैंको कु पूरी लिस्ट देखना चाहते है तो आप यहाँ यूपीआई पार्टनर बैंक लिस्ट 2020 पर क्लिक करके देख सकते है

यूपीआई आईडी का इस्तेमाल करते समय ध्यान रखने योग्य बातें –

यूपीआई का इस्तेमाल करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है क्योंकि अगर आप छोटी छोटी बातों का ध्यान नहीं रखते है तो आपको काफी बड़े नुकसान को भुगतना पड़ सकता है। तो चलिये जानते है ध्यान रखने योग्य बातों को

  • यूपीआई के पासवर्ड को हमेशा स्ट्रॉंग लगाए तथा इसे किसी के साथ शेयर बिलकुल भी नहीं करना चाहिए।
  • जिस सिम पर आपकी यूपीआई आईडी बनी हुई है उस सिम को किसी के साथ शेयर ना करें। ध्यान रखे अगर आपसे कोई आपके मोबाइल पर आने वाले कोड को मांगता है तो उसे बिलकुल भी न दे।
  • अपनी बैंक डिटेल किसी के साथ शेयर ना करें, आपसे कोई भी बैंक का कर्मचारी फोन करके बैंक डिटेल नहीं मांगता है। इसलिए जब भी आपके पास कोई फोन करके कहे की हम आपके बैंक से बोल रहे है हमें आपकी बैंक डिटेल चाहिए तो उसकी सूचना तत्काल बैंक तथा पुलिस को दे।
  • आज के समय में कई लोगो के द्वारा Money Ruquest भेजकर भोले-भाले लोगों को ठग रहे है। आपके पास कोई भी मनी रिक्वेस्ट आए तो उसे एक्सैप्ट ना करें

आप इन सभी बातों का ध्यान जरूर रखे, तथा दूसरों को भी इसके बारे में अवगत कराये ताकि लोग जालसाझो के झांसे में आने से बच सके।

आज क्या जाना / निष्कर्ष–

आज के इस आर्टिक्ल में मैंने आपको UPI Full Form क्या है, यूपीआई एप्प पर अकाउंट कैसे बनाए तथा यूपीआई एप्प का इस्तेमाल कैसे करें इन सबके बारे में विस्तार से बताया है। डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देने के लिए हमें भारत के भीम एप्प की मदद से ऑनलाइन लेनदेन करना चाहिए। जिससे हमारा देश भी डिजिटल हो सके, आज के समय में हमारे देश के प्रधानमंत्री जी का यही सपना है। यूपीआई एक सबसे अच्छा फ्री, सिक्युर तथा आसान है जिसकी मदद से आप बिना बैंक में जाए अपने मोबाइल से रुपए भेज सकते है मँगवा सकते है।

अगर आपकी टेक्नॉलजी, इंटरनेट, कंप्यूटर से जुड़े क्षेत्रो में रुचि है तो आप हमारे ब्लॉग The PS Tech पर इनसे जुड़े Article पढ़ सकते है। अगर आप भी डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देना चाहते है तो आप हमारे इस Article को अपने दोस्तों तथा रिश्तेदारों के साथ Social Media पर शेयर जरूर कर दें। आप हमसे किसी भी प्रकार की सहायता चाहते है यां हमें कोई सुझाव देना चाहते है तो कमेंट करके जरूर बताएं। आप हमसे जुडने के लिए हमें Social Media पर फॉलो जरूर कर लें।

धन्यवाद!

यूपीआई से जुड़े FAQs

क्या यूपीआई से लेनदेन सुरक्षित है?

यूपीआई से लेनदेन करना सुरक्षित है क्योंकि यह भारतीय रिजर्व बैंक की निगरानी में काम करता है

क्या यूपीआई पिन किसी के साथ शेयर करना चाहिए

यूपीआई पिन किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे आपके अकाउंट को नुकसान हो सकता है

 

पवन सिंह शेखावत

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम पवन सिंह है, मैंने कंप्यूटर साइन्स के अंदर अपनी स्नातक की डिग्री पूरी की है। मुझे इंटरनेट, टेक्नॉलजी, कंप्यूटर के बारे में जानने की काफी ज्यादा दिलचस्पी है, जिस कारण मैंने इस ब्लॉग को बनाया है जिसमें आपको इंटरनेट, टेक्नॉलजी, कंप्यूटर, मोबाइल, टिप्स ट्रिक्स तथा ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीकों के बारे में बताने वाला हूँ। अगर आपको मेरे आर्टिक्ल पसंद आते है तो मुझे Social Media पर Follow जरूर कर लें। धन्यवाद !

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button