NEFT क्या है? NEFT Full Form क्या होती है?

आज के समय में हम घर बैठकर ही बैंकिंग से जुड़े सभी काम अपने मोबाइल पर ही कर लेते है। इससे हमारा समय बच जाता है परंतु हमें बैंक में न जाने के कारण बैंक के समय समय समय पर बदलते नियमो के बारे में पता नहीं चल पता है। आज के समय में बैंक से जुड़ी जानकारी के साथ अपडेट रहना सबसे जरूरी बात है। आपने अपनी जिंदगी में रुपए ट्रान्सफर किए है तो NEFT, IRTGS जैसे नाम आपके लिए कोई नए नहीं होंगे। क्या आप जानते है की एनईएफ़टी क्या(What is Neft) होता है, इसकी फुल फॉर्म(NEFT Full Form Hindi) क्या होती है।

यह भी पढ़ें

यूट्यूब से पैसे कैसे कमाए | Youtube se Paise Kaise Kamaye.

इंटरनेट पर ब्लॉगिंग से पैसे कमाने के 5 तरीके

ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं। Online Paise Kaise Kamaye

आज के समय में अगर आप भी इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते है तो आपको कभी न कभी NEFT, IMPS, RTGS करने की जरूरत जरूर पड़ी होगी। हमने आरटीजीएस क्या है इसके बारे में विस्तार से एक आर्टिक्ल में बताया है, आप उस Article को पढ़ सकते है। आज के इस आर्टिक्ल में हम आपको NEFT से जुड़ी सभी जानकारी हिन्दी में देने वाले है। आज आपको नेफ्ट में कितना समय लगता है, नेफ्ट तथा आरटीजीएस में क्या अंतर है, NEFT Full Form Kya hai, इनसे जुड़ी सभी जानकारी मिल जाएगी।

नेफ्ट क्या है? What is NEFT in Hindi?

NEFT की Full Form राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक निधि अन्तरण है, जिसका इंग्लिश में मीनिंग National Electronics Fund Transfer बनता है। इसमें आपको One to One Basis पर Money Transfer करने की सुविधा मिलती है। RTGS तथा IMPS की तरह NEFT Real Time में न होकर Hourly Baches पर अपना काम करता है। भारत के अंदर भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के द्वारा पैसे भेजने के लिए कुछ ऑनलाइन तरीको को सहमति दी गयी है। 2020 के अंदर भारत में 5 ऐसे मुख्य तरीके है जिनकी मदद से आप ऑनलाइन पैसे ट्रान्सफर कर सकते है। ये तरीके निम्न है :-

  1. NEFT
  2. RTGS
  3. IMPS
  4. UPI
  5. Cheque

इनमें से NEFT भी भारतीय रिजर्व बैंक के द्वारा मान्यता प्राप्त तथा संचालित किए जाने वाला पैसे ट्रान्सफर करने की एक भारतीय प्रणाली है। एनईएफ़टी के अंदर कोई भी व्यक्ति, संस्था के द्वारा एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट के अंदर आसानी से बहुत कम समय में रकम भेजी जा सकती है। NEFT पैसे एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में भेजने का एलेक्ट्रोनिक माध्यम है जो की डिफ़र्ड नेट सेटलमेंट (DNS) पर आधारित है। भारत के अंदर Electronic Transfer की शुरुआत 2005 के अंदर Institute for Development and Research in Banking Technology (IDRBT) के द्वारा शुरू की गयी थी। किसी भी बैंक शाखा के द्वारा नेफ्ट के द्वारा लेनदेन तभी किया जा सकता है जब वह बैंक NEFT Enable है।

NEFT की Full Form क्या होती है?

NEFT ENGLISH FULL FORM
NEFT English Full Form is “National Electronics Fund Transfer”
नेफ्ट की हिन्दी फुल फॉर्म
नेफ्ट की हिन्दी में फुल फॉर्म “राष्ट्रिय इलैक्ट्रॉनिक निधि अंतरण” होती है

NEFT किन-किन तरीकों से कर सकते है?

जिस प्रकार आप आरटीजीएस के द्वारा ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों तरोकों से पैसे ट्रान्सफर कर सकते थे उसी प्रकार आप नेफ्ट में भी ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से फ़ंड ट्रान्सफर कर सकते है। इसके लिए आपके पास कुछ जरूरी जानकारी होनी चाहिए जिसमें बैंक डिटेल्स प्रमुख है। तो चलिये जानते है इन दोनों तरीको के बारे में

Online NEFT –

ऑनलाइन नेफ्ट के लिए आपके पास में इंटरनेट कनैक्शन तथा नेट बैंकिंग की सुविधा का होना जरूरी है। अगर आपके पास ये दोनों है तो आप घर बैठकर भी कुछ स्टेप को फॉलो करके आसानी से ऑनलाइन नेफ्ट कर सकते है।

  1. Step 1 – सबसे पहले आपको अपनी नेट बैंकिंग आईडी लॉग इन करनी होगी, अगर आपके पास नेट बैंकिंग आईडी नहीं है तो आप अपने बैंक की आधिकारिक वैबसाइट पर जाकर अपनी नेट बैंकिंग आईडी क्रिएट करके उसे ऑन कर लें। अगर आपकी पहले से नेट बैंकिंग आईडी बनी हुई है तो आप सीधे दूसरे स्टेप पर जा सकते है।
  2. Step 2 – इसमें आपने जिस व्यक्ति के अकाउंट में फ़ंड यां रकम ट्रान्सफर करनी है उसके बैंक से जुड़ी जानकारी Add New Payee में जाकर देनी होगी। इसमें आपको बैंक का नाम, बैंक की शाखा तथा बैंक होल्डर का नाम, अकाउंट नंबर के बारे में आपको बताना होता है।
  3. Step 3 – Payee Add होने के बाद आप NEFT को Fund Transfer करने के लिए चुन सकते है। पहली बार Baneficiary Add होन में कुछ समय लग सकता है परंतु एक बार आप किसी को Beneficiary Account में Add कर लेते है तो उसके बाद आपको दुबारा Fund Transfer करने के लिए उसे Add करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
  4. Step 4 – इस स्टेप में आपने जिस किसी बैंक अकाउंट में पैसे भेजने है उसे चुनना है उसके बाद आप जिसे पैसे भजने है उस Payee को Select करना होगा। अब आपने जितनी धन राशि उस अकाउंट में भेजनी हो उसे भर दें, इसमें आप यह राशि क्यों भेज रहे है अः भी बता सकते है यह ऑप्शन आप पर निर्भर करता है। अगर आप इसे नहीं बताना चाहते है तो ना भरे।
  5. Step 5 – यह लास्ट स्टेप है इसमें आपने ऊपर भरी सभी जानकारी को एक बार पुन जांच लेना है जाँचने के बाद नीचे सबमिट बटन पर क्लिक कर दें।

इस तरह आप ऑनलाइन नेफ्ट के द्वारबाड़ी आसानी से अपने बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में रकम ट्रान्सफर कर सकते है। आपकी इस रकम को भेजने में एक घंटा लग सकता है।

Offline NEFT –

इसमें आपको अपने बैंक की शाखा के अंदर जाकर एक नेफ्ट फॉर्म भरना होगा, जिसमें आपने कुछ जरूरी बैंक से जुड़ी जानकारी देनी होगी। इसके बाद आप जितनी धनराशि भेजनी है वह लिखकर उस फॉर्म को कैशियर को जमा करा दें। ऑफलाइन तरीके से इस प्रकार आपके अकाउंट से वह धनराशि काटकर आपने जिसे भेजनी है उसके अकाउंट के अंदर चली जाएगी।

Online/Offline NEFT के लिए जरूरी चीजें

आपको ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों प्रकार के नेफ्ट करने के लिए आपको जिस बैंक में नेफ्ट करना है उससे जुड़ी जानकारी भरनी होगी। यह कौनसी कौनसी जानकारी होगी इसे आप नीचे दी गयी सारणी में देख सकते है।

बैंक अकाउंट नंबर/ Bank Account Numberइसमें आपने जिसे पैसे भजने है उसके अकाउंट नंबर देने होते है।
बैंक नाम/Bank Nameइसमें आपने जिसे नेफ्ट किया जा रहा है उसका अकाउंट किस बैंक में है
अकाउंट होल्डर नाम/ Beneficiary Name/Payee Nameइसमें आपने जिसके अकाउंट में पैसे भेजने है उसका नाम बताना है।
आईएफ़एससी कोड/ IFSC Codeजिस बैंक शाखा में खाता है उसका IFSC Code देने है।
शाखा/ Branchइसमें बैंक की शाखा कौनसी है इसकी जानकारी देनी होती है।
अकाउंट टाइप/ Account Typeइसमें जिसे आप पैसे भेज रहे है उसका अकाउंट सेविंग, करेंट कौनसा है इसकी जानकारी देनी होती है।
धनराशि/Ammountआपने कितना पैसा भेजना है इसकी जानकारी इसमें देनी होती है।

अगर आपके पास जिसे पैसा भेजना है उसकी ये सभी डिटेल्स है तो आप आसानी से उसे NEFT के जरिये फ़ंड ट्रान्सफर कर सकते है। इसकी जरूरत आपको ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों प्रकार से फ़ंड ट्रान्सफर करने के लिए पड़ती है।

NEFT किस प्रकार से कार्य करता है?

RTGS जिस प्रकार से Real Time में काम करता है उसी प्रकार से NEFT के द्वारा Hourly Baches पर काम करता है इसके काम करने के प्रोसैस को समझने के लिए आप इसके काम करने के स्टेप को अलग अलग तरीके से समझेंगे तो आपको बड़ी आसानी से समझ आ जाएगा तो चलिये समझते है।

  • सबसे पहले नेफ्ट करने के लिए आपसे नेफ्ट एनेब्ल बैंक के द्वारा आपसे किसे नेफ्ट करना है किस अकाउंट से नेफ्ट करना है, कितने रुपए नेफ्ट करने है इससे जुड़ी सभी जानकारी ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों में मांगी जाती है।
  • इसके बाद बैंक के द्वारा आपके द्वारा जोड़े जाने वाले Beneficiary Account से जुड़ी सभी जानकारी बैंक के द्वारा प्र्मणित की जाती है। यह प्रोसैस ऑनलाइन प्रक्रिया में होता है।
  • आपके द्वारा ये जानकारी लेने के बाद में आपके बैंक के द्वारा एक मैसेज को नेफ्ट सर्विस सेंटर तक भेज दिया जाता है। जिससे Neft Service Center को NEFT करने के बारे में जानकारी प्राप्त होती है।
  • इसके बाद ये जानकारी NEFT Clearing Center के पास जाती है, इसमें यह जानकारी National Clearing Center के द्वारा भारतीय रिजर्व बैंक के साथ भी शेयर की जाती है। क्योंकि NEFT Clearing Center का काम National Clearing Center के अंदर आता है।
  • इसके बाद NEFT Clearing Center इन सभी जानकारी को चेक करके इसे अपने हिसाब से शॉर्ट करता है, शॉर्ट करने के बाद बैंक को पैसे ट्रान्सफर करने की प्रमिशन दे दी जाती है। इसके बाद आपके बैंक के द्वारा फ़ंड को Payee के Account में भेज दिया जाता है।

इस प्रकार से एक जटिल सिस्टम के साथ भारतीय रिजर्व बैंक की निगरानी में NEFT से पैसे ट्रान्सफर करने का सारा काम प्रोसैस के साथ में पूरा होता है।

NEFT Transaction Fess कितनी है?

NEFT की Transaction Fees अलग अलग बैंक में अलग अलग होती है तथा यह समय समय पर बदलती रहती है हम आपको May 2020 में जो NEFT Fees है उसके बारे में बताने वाले है। आप जब भी NEFT करवाए तो उससे पहले अपनी शाखा से NEFT Transaction Fees के बारे में जानकारी ले सकते है।

धनराशिफीस
दस हजार रुपए तक के लिए 2.50 रुपए + जीएसटी*
दस हजार से लेकर 1 लाख रुपए तक 5 रुपए + जीएसटी
एक लाख से दो लाख रुपए तक 15 रुपए + जीएसटी
दो लाख से पाँच लाख रुपए तक 25 रुपए + जीएसटी
पाँच लाख से 10 लाख रुपए तक 25 रुपए + जीएसटी

अगर आपके फर्म यां संगठन पर GST Applicable है तभी जीएसटी चार्ज लगेगा वरना नहीं लगेगा।

NEFT Timings क्या होती है?

NEFT के द्वारा सभी काम सर्विस टाइम में किया जाता है। इसलिए NEFT Timings एक निश्चित समय होता है जिसमें नेफ्ट के द्वारा काम किया जाता है। नेफ्ट आप बैंक के खुले होने के समय में ही कर सकते है, अगर बैंक के अंदर छूटियाँ यां बैंक बंद हो गया है तो उसके बाद NEFT का Process नहीं हो पाता है। आप नीचे दी गयी लिस्ट में NEFT Timings देख सकते है।

DayNeft Timings
SundayOff
Monday8.00 AM to 7.00 PM
Tuesday8.00 AM to 7.00 PM
Wednesday8.00 AM to 7.00 PM
Thursday8.00 AM to 7.00 PM
Friday8.00 AM to 7.00 PM
Saturday8.00 AM to 1.00 PM
2nd & 4th SaturdayOff
Public HolidayOff
Bank HolidayOff

इस प्रकार आप समझ सकते है की NEFT Timing भी Bank Open होने पर निर्भर करती है। अगर बैंक में किसी भी प्रकार से अवकाश है तो आपका NEFT नहीं हो पाएगा।



NEFT के द्वारा कौन कौन फ़ंड ट्रान्सफर कर सकता है?

कोई भी संस्था, यां संगठन NEFT के द्वारा Fund Transaction कर सकता है, इसके लिए आपका बैंक में अकाउंट होना चाहिए तथा आपका जिस शाखा में बैंक है उस शाखा का एनईएफ़टी एनेब्ल होना जरूरी है। इसके अलावा आपने जिसे भी फ़ंड ट्रान्सफर करना है उसके बैंक की कुछ जरूरी जानकारी आपके पास है तभी आप फ़ंड ट्रान्सफर कर सकते है।

फंड ट्रान्सफर करने के लिए आपके अकाउंट में प्रयाप्त बैलेन्स होना जरूरी है। अगर आपके पास बैंक अकाउंट नहीं है तभी भी आप नेफ्ट के जरिये किसी दूसरे अकाउंट में पैसे भेज सकते है इसके लिए आपको NEFT Instruction Slip भरकर बैंक में जमा करवानी होगी। नेफ्ट के द्वारा आप 10 लाख रुपए तक का फ़ंड ट्रान्सफर कर सकते है।

NEFT से फ़ंड लेने के लिए क्या जरूरी है?

NEFT से फ़ंड लेने के लिए किसी भी व्यक्ति, संस्था, संगठन या कंपनी का किसी भी बैंक के अंदर बैंक अकाउंट होना जरूरी है जिसमें फंड का पैसा आ सके। इसके अलावा फ़ंड लेने वाले व्यक्ति का जिस भी ब्रांच में बैंक अकाउंट है उसका NEFT Enable होना जरूरी है।

NEFT के क्या फायदे है?

  • NEFT के द्वारा पैसे भेजने पर आपका बहुत कम चार्ज लगता है जो की ना के बराबर ही है।
  • NEFT के द्वारा पैसे ट्रान्सफर करना बहुत ज्यादा सुरक्षित है क्योंकि इसे आरबीआई के द्वारा संचालित किया जाता है। इसलिए आपको NEFT के द्वारा पैसे भेजते समय घबराने की बिलकुल जरूरत नहीं है।
  • इसके माध्यम से कोई भी कंपनी यां संगठन आसानी से एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में सुरक्षित रूप से पैसे भेज सकता है।
  • नेफ्ट के द्वारा आप सिर्फ 24 घंटे के अधिकतम समय में पैसे एक बैंक अकाउंट से दूसरे में भेज पाते है।
  • अगर आप ऑनलाइन नेफ्ट करते है तो इसके लिए आपको बैंक के अंदर जाने की बिलकुल भी जरूरत नहीं है। इसके अलावा जिसे पैसे भेजे जाते है उन्हे किसी प्रकार का कोई पेपर वर्क नहीं करना पड़ता और न ही ब्रांच के चक्कर लगाने पड़ते है।
  • नेफ्ट में फ़ंड रिसीव करने वाले को किसी भी प्रकार से कोई चार्ज नहीं देना पड़ता है, इसमें आप छोटी रकम का आसानी से लेनदेन कर सकते है
  • इसमें आपकी Transaction 24 घंटे के अंदर नहीं होती है तो पैसा आपके अकाउंट में वापस आ जाता है।

NEFT के नुकसान क्या है?

  • नेफ्ट के द्वारा पैसे भेजने में 24 घंटे का समय लग सकता है जो की बहुत ज्यादा है।
  • यह एक पुराना तरीका है आज के समय में NEFT की बजाय UPI यां IMPS का ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है।

NEFT तथा RTGS में क्या फर्क है?

नेफ्ट तथा आरटीजीएस के अंदर काफी कुछ फर्क है आरटीजीएस एक नया माध्यम है तो दूसरी तरफ नेफ्ट पुराना हो गया है इनके बीच में फर्क को हम सारणी के द्वारा ट्टुलाना करके समझ सकते है।

NEFT/नेफ्टRTGS/आरटीजीएस
इसके अंदर आप 10 लाख से ज्यादा रुपए नहीं भेज सकते है। इसमें आप 2 लाख से कम रुपए नहीं भेज सकते है।
इसमें फ़ंड ट्रान्सफर होने में अधिकतम 24 घंटे का समय लग जाता है। इसमें 30 मिनट में ही फ़ंड ट्रान्सफर हो जाता है।

 

यह Hourly Bashes पर कार्य करता है। यह Real Time Process पर कार्य करता है।
इसके अंदर आप ज्यादा बड़ी राशि नहीं भेज सकते है। इसका इस्तेमाल छोटी रकम को भेजने के लिए किया जाता है। इसमें आप 2 लाख से बड़ी राशि का लेनदेन किया जाता है इसलिए इसका इस्तेमाल बड़े फ़ंड को भेजने में किया जाता है।
नेफ्ट एक पैसा भेजने का धीमा माध्यम है यह काफी तेज माध्यम है।
नेफ्ट के अंदर आप बैंक बंद होने यां छूटी होने के बाद पैसा ट्रान्सफर नहीं कर सकते है। इसमें आप 24 घंटे 7 दिन कभी भी फ़ंड ट्रान्सफर कर सकते है।
यह RTGS से थोड़ा सा सस्ता है। यह नेफ्ट से थोड़ा सा महंगा है जो कि ना के बराबर ही है।
इसमें ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों तरीको से फ़ंड ट्रान्सफर कर सकते है। आरटीजीएस में भी आपको यही सुविधा मिलती है।

NEFT से जुड़े कुछ जरूरी FAQs क्या है?

Question 1 : क्या NEFT के लिए IFSC Code जरूरी है?
Answer 1 : हाँ NEFT से Fund Transfer करने के लिए आपके पास जिस अकाउंट में NEFT से Fund Transfer करना है उसके बैंक की शाखा का IFSC Code पता होना सबसे जरूरी है।
Question 2 : NEFT की Full Form क्या है इसका हिन्दी में क्या अर्थ निकलता है?
Answer 2 : NEFT की Full Form National Electronics Transfer होती है इसका हिन्दी में मतलब राष्ट्रिय इलैक्ट्रॉनिक निधि अंतरण होता है।
Question 3 : क्या सभी बैंक में NEFT की सुविधा होती है?
Answer 3 : आज के समय में सभी राष्ट्रिय बैंको में NEFT की सुविधा उपलब्ध है परंतु कुछ ऐसे भी बैंक है जिनके अंदर NEFT की सुविधा नहीं मिलती है। हम आपको उन सभी बैंक की लिस्ट नीचे दे देंगे जिनमें 2020 के अंदर NEFT की सुविधा है।
Question 4 : NEFT Limit कितनी होती है?
Answer 4 : प्रत्येक Transaction के लिए NEFT Limit 10 लाख रुपए तक होती है।
Question 5 : NEFT कि सुविधा देने वाले बैंक कौनसे है?

निष्कर्ष –

आज के इस आर्टिक्ल को हम इसी आशा के साथ खत्म करते है कि आपको नेफ्ट क्या(What is NEFT) होता है, नेफ्ट कि फुल फॉर्म(NEFT Full Form )क्या होती है इसके बारे में विस्तार से पता लग गया है। इस आर्टिक्ल में हमने आपको NEFT Timing, NEFT Limit तथा Difference Between Neft And RTGS Transaction के बारे में भी बता दिया है। अगर आपको आज का यह आर्टिक्ल पसंद आया है तो इसे अपने दोस्तो के साथ Social Media पर शेयर कर दें।

मुझे पूरी उम्मीद है आपको NEFT से जुड़ी सभी जानकारी मिल गयी होगी, अगर फिर भी कुछ रह गया है तो आप हमसे कमेंट में पूछ सकते है हम आपको जरूर जवाब देंगे। इसके अलावा आप मोबाइल पर अपडेट पाने के लिए हमसे Social Media पर जुड़ सकते है तथा हमारा Telegram Channel को भी Join कर लें। हम आपको हमारे इस ब्लॉग पर टेक्नॉलजी, मोबाइल, कंप्यूटर से जुड़ी सभी जानकारी शेयर करते है।

Leave a Comment