गूगल क्या है? Google Full Form क्या होती है जानिए

गूगल का इस्तेमाल आज के वक्त में हर कोई करता है, आज जब भी हमने कुछ जानकारी लेनी होती है किसी चीज को खरीदना होता है यान फिर कोई भी इंटरनेट से जुड़ा काम करना होता है तो हम सबसे पहले जाकर गूगल पर सर्च करते है। परंतु हमारे अंदर गूगल से जुड़ी काफी सारी गलत जानकारी है जिसे हर कोई सही मानता है आज मैं आपको गूगल से जुड़ी सही जानकारी देने वाला हूँ। गूगल क्या है गूगल का काम क्या है गूगल की फुल फॉर्म(Google Full Form) क्या होती है? इसके बारे में सारी जानकारी मिलेगी।

आज ज़्यादातर लोग गूगल को ही इंटरनेट मानते है परंतु असल में गूगल इंटरनेट बिलकुल नहीं है। इंटरनेट एक अलग चीज है और गूगल एक अलग प्रकार की चीज है। गूगल के बारे में हमें जानकारी होना सबसे ज्यादा जरूरी है क्योंकि यह हमारी जिंदगी के अंदर रोज काम आने वाली वस्तु बन चुकी है जिस प्रकार कपड़ा रोटी और मकान है उसी प्रकार गूगल भी हमारी जरूरत बनता जा रहा है। अगर आप भी गूगल के बारे में विस्तार से सही जानकारी लेना चाहते है तो हमारे इस आर्टिक्ल को विस्तार से पूरा जरूर पढ़ने की कोशिश करें।

यह भी पढ़ें

गूगल से पैसे कैसे कमाएं? Earn Money From Google.

OK क्या है? OK की Full Form क्या होती है जाने

कंटैंट राइटिंग से पैसे कैसे कमाएं [Beginners Guide]

गूगल क्या है। What is Google in Hindi

जितना हम गूगल का इस्तेमाल करते है इस हिसाब से हमने यह तो पक्का ही पता होना चाहिए की गूगल क्या है। अगर आपको आज तक गूगल क्या है इसके बारे में पता नहीं है यां गलत पता है तो आज मैं आपको गूगल के बारे में सही बता दूंगा। गूगल एक सर्च इंजिन है जिसकी मदद से हम इंटरनेट पर किसी भी प्रकार की जानकारी को सर्च करके देख सकते है। गूगल के द्वारा इंटरनेट पर मौजूद जानकारी को हमारी जरूरत के अनुसार सर्च करने पर इंटरनेट से उठाकर हमारे सामने लाने का काम है। गूगल एक बहुत बड़ी कंपनी है जिसमें गूगल सर्च इंजिन के अलावा भी अन्य काफी सारी छोटी बड़ी कंपनी आती है।

आसान भाषा में हम गूगल को एक ऐसी कंपनी का समूह मान सकते है जिसके अंदर सर्च इंजिन, क्लाउड कम्प्यूटिंग, जीमेल जैसी अनेक सर्विस आती है। गूगल के आज काफी सारे प्रॉडक्ट है जिनका इस्तेमाल हम सभी करते है जिनमें क्रोम, गूगल ड्राइव, जीमेल, गूगल मैप कुछ सबसे पॉपुलर है। गूगल की शुरुआत सबसे पहले इंटरनेट पर कोई जानकारी सर्च करने के लिए ही की गयी थी।

गूगल की फुल फॉर्म क्या होती है। What is The Full Form of Google.

दोस्तो क्या आपको पता है इस प्यारे से नाम गूगल की फुल फॉर्म भी बड़ी रोचक है। शुरुआत के अंदर जब गूगल कंपनी बनी थी उस समय इसकी कोई भी फुल फॉर्म नहीं थी गूगल नाम भी Googol से बनाया गया था। Googol का मतलब एक नंबर से होता है जिसके साथ में 100 जीरो(0) जुड़ी हुई हो तो आप समझ गए होंगे की तभी गूगल में एक Keyword Search करने पर उससे जुड़े 10000000 से भी ज्यादा जवाब आते है।

आज के समय में Google Full Form : Global Organization of Oriented Group Language of Earth है। गूगल की इस फुल फॉर्म का हिन्दी में मीनिंग पृथ्वी की उन्मुख समूह भाषा का वैश्विक संगठन बनता है। अब आप जान गए होंगे की हम जानकारी देने वाले गूगल की भी कुछ अपनी जानकारी भी है।

Google English Full Form

Global Organization of Oriented Group Language of Earth

गूगल की फुल फॉर्म

पृथ्वी की उन्मुख समूह भाषा का वैश्विक संगठन

गूगल का इतिहास/ Google History Hindi

Google की Full Form जानने के बाद आपको गूगल का इतिहास जानने में काफी ज्यादा रुचि होगी। गूगल का इतिहास ज्यादा पुराना तो नहीं है परंतु जितना भी पुराना है उतना ही रोचक भी है। जब गूगल इस दुनियाँ के अंदर नहीं था उस समय में काफी सारी सारे सर्च इंजिन जैसे याहू, बीइंग जैसे मौजूद थे परंतु उन सर्च इंजन में काफिसरी कमियाँ थी जिनमें सबसे बड़ी कमी यही थी की इन सर्च इंजिन पर लोगो को अपनी जरूरत से ज्यादा एड दिखाई देती थी जिससे सभी लोग काफी खफा थे।

इससे पीएचडी करने वाले दो क्षात्र Sergey Brin और Larry Page ने सन 1996 में अन्य सर्च इंजिन के अंदर आने वाली कमियों को गौर करके उन कमियों को दूर करके गूगल की शुरुआत करने की सोची जिसके बाद उन्होने गूगल को बना दिया। जिसका नाम 1997 के अंदर Google दिया गया था। इस प्रकार गूगल ने काफी तरक्की करते हुए सभी सर्च इंजिन को पछाड़ना शुरू कर दिया।

इसके बाद गूगल दिन दुगुनी रात चौगुनी तरक्की शुरू कर दी जिसके बाद में गूगल ने अनेक बड़ी बड़ी कंपनी को खरीदकर अपने अंदर मिलना शुरू कर दिया। गूगल ने गूगल मैप, यूट्यूब, आंड्रोइड जैसी बड़ी कंपनी को खरीदकर अपने अंदर मिलना शुरू कर दिया। गूगल ने जिन भी कंपनी को खरीदकर अपने अंदर मिलाई वे सभी कंपनी आज काफी पॉपुलर बन चुकी है।

गूगल ने मार्केट में सर्च इंजिन के अलावा भी अपने अनेक प्रॉडक्ट जैसे जीमेल, गूगल क्रोम, गूगल असिस्टेंट, गूगल प्लस तथा ब्लॉगर जैसे बड़े प्लैटफ़ार्म की शुरुआत की जिसमें आज अनेक लोग कम करते है तथा इन सभी की आज के समय में वैल्यू करोड़ों के अंदर है।

गूगल कैसे काम करता है?

आप सभी ने शायद यह जरूर सोचा है की गूगल कैसे काम करता है गूगल के काम करने का अपना एक अलग ही तरीका है। आपको बता दें की जब भी हम गूगल पर कोई चीज सर्च करते है तो जो रिज़ल्ट हमारे सामने आते है वे सभी न ही तो गूगल लिखता है और न ही गूगल के वे सभी रिज़ल्ट होते है। अगर हम कोई जानकारी लेने के लिए चीज सर्च करते है तो उन्हे कई ब्लॉगर, कंपनी इस जानकारी को लिखती है।

गूगल एक सर्च इंजिन है जो किसी भी यूजर को उसकी जरूरत के हिसाब से उसके लिए बेस्ट कंटैंट इंटरनेट से सर्च करके बहुत कम समय में यूजर के सामने लाना है। गूगल बेस्ट कंटैंट कौनसा है यह तय करने के लिए कुछ फेक्टर तय करता है जिस ब्लॉगर यां साइट का कंटैंट इन सभी फेक्टर को सबसे ज्यादा अच्छे तरीके से फॉलो करता है गूगल उस रिज़ल्ट को सबसे पहले दिखाता है। गूगल के अंदर किसी भी कंटैंट को ऊपर लाने के लिए एसईओ सबसे जरूरी टर्म है जिसकी मदद से कोई भी कंटैंट गूगल के पहले पेज पर रैंक करता है।

अब आप समझ गए होंगे की जब भी आप इंटरनेट पर कुछ सर्च करते है और आपके सामने जो रिज़ल्ट आते है वे सभी गूगल के द्वारा खुद लिखे हुए नहीं होते है गूगल सिर्फ आपके द्वारा सर्च किए गए टॉपिक से जुड़ी जानकारी इंटरनेट पर मौजूद है तो उसे सर्च करता है और आपके सामने आपकी स्क्रीन पर लाकर रख देता है। गूगल का काम करने का यही एक सिम्पल सा प्रोसैस है।

गूगल को क्यों बनाया गया?

शुरुआत के अंदर गूगल की तरह ही काफी सारे सर्च इंजिन बहुत ज्यादा पॉपुलर थे परंतु उन सभी सर्च इंजिन के द्वारा यूजर की मांग को बिलकुल ध्यान नहीं रखा जाता था। हम सभी जानते है की जब कोई भी कंपनी कितनी भी बड़ी क्यों न हो परंतु अगर उसके द्वारा अपने यूजर की मांग को ध्यान नहीं रखा जाएगा तो वे जल्द ही अर्श से फर्श पर आ जाएगी। यही बात अन्य सर्च इंजिन के साथ में हुई। उनके द्वारा ज्यादा एड दिखने तथा सही तरीके से यूजर को रिज़ल्ट न प्रोवाइड करवाने के कारण गूगल ने इसका फायदा उठाया।

इस चीज का फायदा उठाते हुए Sergey Brin और Larry Page ने एक एक ऐसे सर्च इंजिन को बनाने की सोची जिसमें ज्यादा एड नहीं दिखाई जाए तथा यूजर को सबसे सटीक जानकारी मिलनी चाहिए जिससे यूजर एक बार में अपनी जरूरत की जानकारी प्राप्त कहीं दूसरे सर्च इंजिन पर न जाए। इसी लिए गूगल का निर्माण किया गया और यूजर की बात का ध्यान रखने के कारण गूगल जल्द ही इंटरनेट पर पॉपुलर होने लगा तथा कुछ ही सालों में गूगल सर्च इंजिन ने अनेक सर्च इंजिन को पीछे छोड़ते हुए इंटरनेट के बाजार में अपना दबदबा बना लिया।

Larry Page & Sergey Brin Pic founder of google
Founder of Google

गूगल को किसने बनाया था। Google Founder

गूगल जिसका इस्तेमाल आज के वक्त में इंटरनेट पर कुछ भी सर्च करने के लिए किया जाता है इस सर्च इंजिन को किसने बनाया था Google के Founder Sergey Brin और Larry Page दो पीएचडी के क्षात्र थे

Father of Google or Google Founder

Sergey Brin & Larry Page

गूगल के सीईओ कौन है। Google CEO

आज के समय में हर भारतीय के लिए एक गर्व की बात है की दुनियाँ की सबसे बड़ी इंटरनेट कंपनी और सर्च इंजिन Google के SEO Sundar Pichai है। आज के समय में Google की पैरेंट्स कंपनी अल्फाबेट के सीईओ भी सुंदर पिचाई को बनाया गया है। गूगल पिचाई की सेलरी 1000 करोड़ से लेकर 1500 करोड़ रुपए हर साल की है।

Google CEO

सुंदर पिचाई (Sundar Pichai)

गूगल की कितनी कीमत है।

शायद हम सही ढंग से गूगल की कीमत किसी भी प्रकार से नहीं लगा सकते है। आज के समय में हर साल गूगल के सीईओ को 1500 करोड़ रुपए मिलते है और गूगल बड़ी बड़ी करोड़ो डॉलर की कंपनी को खरीदने की क्षमता रखती है अब आप खुद सोच सकते है की गूगल की कीमत कितनी हो सकती है। गूगल की कीमत तो बताना नामुमकिन ही है परंतु गूगल प्रत्येक दिन 121 मिलियन डॉलर एड से कमाता है जिसे हम भारतीय रुपए के अंदर देखे तो इसकी कीमत लगभग 9,04,23,17,900 रुपए बनती है।

गूगल की एक दिन की कमाई

गूगल प्रत्येक दिन 121 मिलियन डॉलर एड से कमाता है जिसे हम भारतीय रुपए के अंदर देखे तो इसकी कीमत लगभग 9,04,23,17,900 रुपए बनती है।

गूगल के अन्य प्रॉडक्ट कौनसे है।

गूगल के अंदर अनेक कंपनी आती है जिनकी कीमत करोड़ो डॉलर के अंदर है। गूगल के गूगल सर्च इंजिन के अलावा भी काफी सारे अन्य प्रॉडक्ट है। जिनसे गूगल के रेवेन्यू में काफी बड़ा योगदान है। यहाँ हम आपको गूगल के आँय सभी बड़ी कंपनी और प्रॉडक्ट के बारे में बता देते है।

गूगल सर्च इंजिन वेब मेल
गूगल समाचार गूगल कैलेंडर सॉफ्टवेयर
क्लाउड स्टोरेज यूट्यूब
वेब ब्राउज़र आंड्रोइड ऑपरेटिंग सिस्टम
कम्प्यूटरीकृत संपर्क लेंस रोबॉट्स असिस्टेंट
डेस्कटॉप कंप्यूटर गूगल मैप
गूगल ट्रांस्लेटर गूगल ड्राइव
मीट गूगल ड्यूओ
गूगल अर्थ गूगल प्ले स्टोर

ये सभी गूगल के अन्य प्रॉडक्ट है इसके अलावा भी गूगल अनेक छोटी बड़ी कंपनी की मालिक है। गूगल के इंटरनेट पर अनेक छोटे बड़े सॉफ्टवेर, हार्डवेयर मौजूद है।

गूगल के फायदे | Advantages of Google in Hindi

गूगल इतनी बड़ी कंपनी है तो इसका हमें क्या फायदा है यह जानना सबसे जरूरी है परंतु हम सभी यह तो जानते ही है की गूगल के हमे काफी सारे फायदे है परंतु कौनसे फायदे है इसके बारे में भी हम जान लेते है।

  • गूगल की मदद से हम इंटरनेट से बड़ी आसानी से हमें जो भी जानकारी चाहिए होती है हम उसे सर्च करके प्राप्त कर सकते है।
  • गूगल के द्वारा फ्री में ईमेल की सर्विस दी जाती है जिसका इस्तेमाल आज के समय में छोटे से कर्मचारी से लेकर मल्टीनेशनल कंपनी भी इस्तेमाल करती है।
  • गूगल मैप की मदद से हम कहीं पर भी जाकर कोई भी जगह ढूंढ सकते है इसकी मदद से हमें उस जगह की पूरी जानकारी और रास्ते की जानकारी प्राप्त जो जाती है यह हमारे लिए सबसे बड़ा फायदा है।
  • गूगल की मदद से दुनियाँ के अंदर काफी सारे बिज़नस को एड लगाने का मौका मिलता है जीससे उनका बिज़नस भी बढ़ता है यह बिज़नस स्टार्ट करने वालों के लिए सबसे बड़ा फायदा है।
  • गूगल का विडियो प्लैटफ़ार्म यूट्यूब है जहां से हम कुछ भी विडियो देख सकते है विडियो देखकर सीख सकते है किसी के पास कुछ हुनर है तो वह यहाँ पर दिखाकर अच्छा खासा कमा सकता है।
  • आज के समय में गूगल एडसेंस के कारण ही हम जैसे ब्लॉगर का घर चल रहा है। गूगल की बदोलत से ही ब्लॉगर अपने ब्लॉग के माध्यम से कमाई कर रहे है।
  • गूगल ड्राइव में हमे क्लाउड स्टोरेज मिलता है जहां पर हम ऑनलाइन अपनी फ़ाइल डॉकयुमेंट यां इमेज डाटा को सेव करके रख सकते है।
  • गूगल ट्रांसलेट की मदद से हम एक भाषा से दूसरी भाषा के अंदर किसी भी शब्द को ट्रांसलेट करके उसका अर्थ जान सकते है। जिससे हमें किसी दूसरी भाषा के व्यक्ति की बात समझना आसान हो जाता है।
  • गूगल मीट की मदद से हम विडियो कॉल केआर सकते है। गूगल की मदद से काफी सारे ऑनलाइन बिज़नस आज चल रहे है।

ये सभी गूगल के होने के हमें फायदे है इसके अलावा भी हमारी जिंदगी में गूगल एक ज्ञान का भंढार है जिसका इस्तेमाल हम ज्ञान बढ़ाने के लिए कराते है। अगर छोटे बड़े फायदे जोड़े तो शायद गूगल के फायदे लिखते लिखते हमारे शब्द ही खत्म हो जाएंगे।

निष्कर्ष –

दोस्तो आज के इस Article में हमने आपको Google Full Form क्या होती है गूगल क्या होता है तथा गूगल को बनाने के हमें क्या फायदे हुए है इसके बारे में विस्तार से बताया है। अगर आपको भी गूगल के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त नहीं थी यां गलत जानकारी प्राप्त थी तो आपको शायद आज सही जानकारी प्राप्त हो गयी है। अगर आपने गूगल से जुड़ी किसी भी प्रकार की और जानकारी जाननी है तो हमसे कमेंट में पूछ सकते है। अगर आपको हमारा आर्टिक्ल पसंद आया है तो इसे अपने दोस्तो के साथ तथा Social Media पर शेयर जरूर कर दें। आप हमसे हमारे Social Media पर भी Regular Update पाने के लिए फॉलो कर सकते है।

Leave a Comment