अंधभक्त किसे कहते हैं। Andhbhakt Kise Kahate Hain

अंधभक्त किसे कहते हैं। Andhbhakt Kise Kahate Hain : नमस्कार दोस्तो, सबसे पहले आपका हमारे ब्लॉग के अंदर स्वागत है। आज के समय में जब भी मैं social media खोलता हूँ तो मुझे हर बार एक शब्द जरूर दिखाई देता है। वह शब्द आपको भी फेसबुक, WhatsApp और Social Media पर देखने को मिलता होगा।

वह शब्द है “अंधभक्त” अब इस शब्द को पढ़ने के बाद आपके सामने बीजेपी के Supporter की छवि बन गयी होगी यां यूं कहें जो लोग मोदी जी को अपना आदर्श मानते है उनकी छवि आपके दिमाग में आई होगी।

अंधभक्त किसे कहते हैं ( andhbhakt kise kahate hain ) : कोई इंसान जिसके पास गधे जितना दीमाग होने के बावजूद जब कुते की तरह भौंकता रहता है तो उस 3 आत्माओं से मिलकर बने इंसान को अंध भक्त कहा जाता है।

इसे मैं राजनीति की भाषा में समझाऊँ तो बीजेपी को मानने वाले लोग जिनके पास में ज्यादा दिमाग नहीं है और बीजेपी के द्वारा कही गई किसी भी बात का कुते की तरह भोंककर समर्थन करते है अंधभक्त कहते है।

जब कभी हम इस शब्द को सुनते है तो हमारे दिमाग में एक ख्याल यह भी आता है की आखिर यह अंधभक्त किसे कहते है और क्यों हम किसी को अंधभक्त कहते है। क्या हमारे द्वारा किसी को अंधभक्त कहना सही है? यां हमारे इस शब्द से किसी को कोई ठेस पहुँचती है?

आज के इस आर्टिक्ल में हम आपको इसके बारे में विस्तार से बताएँगे की अंधभक्त किसे कहते है ( Andhbhakt Kise Kahate Hain ) इस आर्टिक्ल को पढ़ने के बाद आपको सब समझ आ जाएगा।

यह आर्टिक्ल पढ़ें

फेसबुक से पैसा कैसे कमाए

अंधभक्त किसे कहते हैं। Andhbhakt Kise Kahate Hain

अंधभक्त शब्द का इस्तेमाल आज किसी धर्मग्रंथ से ज्यादा इस्तेमाल राजनीति में किया जाता है और शायद आप भी राजनीति में अंधभक्त किसे कहते है यह जानने में उत्सुक होंगे। परंतु मैं आपको राजनीति के साथ साथ हर धर्म में अंधभक्त किसे कहा गया है यह समझने वाला हूँ।

अगर हम किसी को अंधभक्त कहते है तो इसका मतलब होता है की कोई ऐसा व्यक्ति जो किसी भी बात पर बिना रिसर्च किए, उसके सही और गलत पहलू को बिना जाने ही उस पर आँख बंद करके विश्वास करता है तो उसे अंधभक्त कहा जा सकता है।

andhbhakt kise kahate hain

हमारे आस पास कोई भी इंसान खुद मेहनत न करने के बजाय देवी देवताओं पर अपना काम छोड़ देता है अथवा जो इंसान किसी के द्वारा सुनाई गई बात को 100 प्रतिशत सच मान लेता है उसे अंधभक्त कहा जाता है।

मेरी नजर में जो व्यक्ति टुने टोटके और भूत प्रेत को अपना आदर्श मानता है उनकी पुजा करता है वह व्यक्ति भी अंधभक्त की श्रेणी में ही आता है।

यह भी पढ़ें

लूडो गेम से पैसे कैसे कमाए

राजनीति में अंधभक्त किसे कहते हैं। Rajniti men Andhbhakt Kise Kahate Hain

सबसे पहले यह जानना जरूरी है की राजनीति के अंदर अंधभक्त किसे कहते है और मैं आपको यही बताने वाला हूँ।

आपने फेसबुक पर, यूट्यूब यां WhatsApp पर आने वाले अनेक जोक और कमेंट में अंधभक्त कहते हुए जरूर सुना होगा। परंतु आपने कभी अंधभक्त किसे कहते है यह जानने की चेष्ठा नहीं की होगी तो आज मैं आपको यह बता देता हूँ।

राजनीति के अंदर जो लोग बीजेपी पार्टी अथवा हमारे देश के माननीय प्रधानमंत्री जी को अपना आदर्श मानते है उन्हे अंधभक्त कहते है।

जो लोग बीजेपी पार्टी के हर एक फैसले को सही मानते है और चुनाव के अंदर बीजेपी के द्वारा टिकट देने वाले उम्मीदवार को बिना सोचे समझे हो वोट देते है उसे अंधभक्त कहते है।

आप इसे आसान भाषा में समझे तो बीजेपी पार्टी के किसी भी फैसले पर विचार विमर्श किए बिना उसे सही बता देने वाले लोगो को दूसरी पार्टी के लोग अंधभक्त कहते है। परंतु आजकल बीजेपी के सही फैसले का समर्थन करने वाले लोगो को भी दूसरी पार्टी के लोग अंधभक्त कह देते है

राजनीति के अंदर अंधभक्त वे लोग होते है जो भाजपा के कार्यकर्ता है यां फिर भाजपा के द्वारा दिये गए ब्यान अथवा मोदी जी के द्वारा काही गयी बात को सही साबित करने में लगे रहते है उन्हे अंधभक्त कहा जाता है।

जानिए : – फेसबुक पर लाइक कैसे बढ़ाए 

मोदी जी को आदर्श मानने वालों को अंधभक्त क्यों कहते है।

वैसे तो इसका कोई स्पष्ट कारण किसी के पास नहीं है। परंतु मेरा अंदाजा है 70 साल से इस देश को लूटने वाले लोग अब हमारे देश के प्रधानमंत्री के द्वारा किए जाने वाले सही कार्यों, भ्रष्टाचार के लगाम लगाने वाले कानून बनाने के कारण उनके समर्थको को 70 साल लूटने वाली पार्टी के लोग अंधभक्त कहते है।

परंतु हम किसी के द्वारा अच्छे काम करने पर उसे अपना आदर्श मनाने वाले लोगो को अंधभक्त कहकर अपनी ज़िम्मेदारी से पल्ला नहीं झाड सकते है। इसके बजाय हमें आज की स्थिति और पहले की स्थिति पर चर्चा करनी चाहिए।

क्या बीजेपी कार्यकर्ता अंधभक्त है। Andh Bhakt Kise Kahate Hain

इसका कोई एक जवाब नहीं हो सकता है अगर कोई बंदा बीजेपी के द्वारा कही गई बात अथवा उसके द्वारा उठाए गए गलत उम्मीदवार को बिना सोचे समझे वोट देता है यां उसका समर्थन करता है तो उसे हम अंधभक्त कह सकते है।

परंतु दूसरी तरफ एक इंसान बीजेपी के द्वारा किए जाने वाले किसी सही कानून अथवा सही उम्मीदवार को सोच समझकर वोट देता है यां फिर उसे समझ है की यह कानून यां उम्मीदवार सही है तो आप दूसरी पार्टी के होकर उसे अंधभक्त कहते है तो यह सरासर गलत है।

बीजेपी के द्वारा कही गई गलत बात को समर्थन करने वाला अंधभक्त जरूर है परंतु बीजेपी के सही कामों का समर्थन करने वाले को अंधभक्त कहना गलत होगा।

अब आप समझ गए होंगे की राजनीति के अंदर अंधभक्त किसे कहते है (Andhbhakt Kise Kahate Hain ) किसी व्यक्ति को अंध भक्त कहना कब सही रहता है। और अंधभक्त कहने के पीछे का कारण क्या होता है।

सीखिये – : मोबाइल नंबर से लोकेशन कैसे पता करें

राजनीति में किसी को अंधभक्त कहने के पीछे क्या तर्क है?

राजनीति के अंदर अंधभक्त शब्द का इस्तेमाल काफी ज्यादा किया जाता है परंतु इसके पीछे क्या तर्क है यह भी आपको जान लेना चाहिए इसे मैं आपको भाजपा पार्टी के समर्थक और काँग्रेस पार्टी के दोनों पहलुओं के रूप में आपको बताता हूँ।

भाजपा समर्थक :

एक तरफ भाजपा के समर्थक है जिनका मानना है की 70 साल तक भारत के अंदर काँग्रेस का राज रहा है इस समय के अंदर काँग्रेस ने भारत की दशा को सुधारने में कोई प्रयत्न नहीं किया है। यह बात कुछ सही है तो कुछ हद तक गलत भी है।

अब बीजेपी समर्थक बीजेपी पार्टी के द्वारा जो कुछ कहा जाता है यां फिर करा जाता है उसे देशहिट में कहकर उसका समर्थन किया जाता है। अगर बीजेपी कोई ऐसी बात भी कहती है जिसका कोई हाथ पेर ही नहीं है उसे भी बीजेपी के समर्थक सही बताते है।

बीजेपी समर्थक लोगो का मानना है की मोदी जी देश हित में सभी काम कर रहे है और काँग्रेस सिर्फ एक घर की पार्टी है और घर में पैसा भरने का काम करती है। बीजेपी समर्थकों का मानना है काँग्रेस में वाड्रा जैसे लोग किसानों की जमीन हड़प रहे है। अब आते है इसी के दूसरे पहलू काँग्रेस पार्टी की तरफ

काँग्रेस पार्टी के समर्थक :

काँग्रेस पार्टी के समर्थकों का मानना है की काँग्रेस ने जो किया है वह बिलकुल सही किया है अब मोदी जी सब कुछ गलत कर रहे है। मोदी जी तो अंबानी जी की जेब में है ये सब बाते कर रहे है और उनका मानना है भाजपा के लोग बिना सोचे समझे इनका समर्थन करते है और ये सभी अंध भक्त है।

हिन्दू धर्म के अनुसार अंधभक्त किसे कहते है। Andh Bhakt Kise Kahate Hain

हिन्दू धर्म में अनेक भक्तों का जिक्र हुआ है जिसमें पित्र भक्त, गुरु भक्त मात्र भक्त यां फिर देश भक्त प्रमुख है। परंतु कहीं पर भी अंधभक्त का जिक्र नहीं किया गया है।

हिन्दू धर्म के अनुसार किसी व्यक्ति को अंध भक्त तब कहा जाता है जब किसी व्यक्ति के द्वारा आंखो को बंद करके किस को पूर्ण रूप से सत्य मान लिया जाता है।

जो व्यक्ति किसी के द्वारा कही गई बात पर गौर किए बिना, उस बात की जांच पड़ताल किए बिना उसे सही मान लेता है तो उससे बड़ा कोई अंधभक्त नहीं हो सकता है।

मुस्लिम धर्म के अनुसार अंधभक्त कौन है। Musalman Andh Bhakt Kise Kahate Hain

अगर मुस्लिम धर्म की बात करें तो ज़्यादातर मुसलमान हिन्दू राष्ट्र की संकल्पना करने वाले लोगो को अंधभक्त मानते है।

इसके अलावा राम मंदिर का समर्थन करने वाले मेरे जैसे राम भक्तों को भी काफी सारे मुस्लिम समुदायों के द्वारा अंधभक्त कहा जाता है।

कमाएं : – ऑनलाइन फोटो बेचकर पैसे कैसे कमाएं

गूगल के अनुसार अंधभक्त किसे कहते है।  Google Andhbhakt Kise Kahate Hain

गूगल के अनुसार अंधभक्त तीन प्रकार के जीवों से मिलकर बने होते है जब इंसान, गधा और कुता मिलकर एक प्राणी बनता है उसे अंधभक्त कहते है।

इसे आप इस प्रकार से समझ सकते है की कोई इंसान जिसके पास गधे जितना दीमाग होने के बावजूद जब कुते की तरह भौंकता रहता है तो उस 3 आत्माओं से मिलकर बने इंसान को अंध भक्त कहा जाता है।

इसे मैं राजनीति की भाषा में समझाऊँ तो बीजेपी को मानने वाले लोग जिनके पास में ज्यादा दिमाग नहीं है और बीजेपी के द्वारा कही गई किसी भी बात का कुते की तरह भोंककर समर्थन करते है अंधभक्त कहते है।

Google Andh bhakt Kise Kahate Hain

अब आप कमेंट में यह जरूर बताए की यह परिभाषा सही है यां फिर नहीं है। अगर अंधभक्त की कोई ओर परिभाषा है तो कमेंट में बताए हम आपके नाम के साथ में इस आर्टिक्ल में लिखेंगे।

निष्कर्ष –

आज के इस आर्टिक्ल के अंदर मैंने आपको अंधभक्त किसे कहते है ( Andhbhakt Kise Kahate Hain ) इसके बारे में विस्तार से समझ आ गया होगा। अब आप समझ गए होंगे की बीजेपी का समर्थन करने वाले लोगो को अंधभक्त कहा जाता है।

इसके अलावा अंधभक्त क्यों कहा जाता है और कौन कहता है यह भी आपको समझ आ गया होगा। इसके अलावा अंधभक्त किसे कहते है इसके बारे में अगर आपकी भी कोई राय है तो कमेंट में हमे जरूर बता दें।

और अंतिम बात आप किसी भी पार्टी के हो मुझे गली गलोच मत निकालना भाई। और अगर आपको अंधभक्त से जुड़ी किसी बात पर समर्थन नहीं है तो कमेंट में बताए हम उसे डिलीट कर देंगे।

जय जवान…जय किसान…जय भारत साथियो

अंधभक्त से जुड़े कुछ सवाल जवाब । QNAs About Andhbhakt Kise Kahate Hain

अंधभक्त का पिता किसे कहते हैं

अंधभक्त का पिता राजनीति के अंदर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को कहते हैं। क्योंकि बीजेपी के लोग मोदी जी को अपना आदर्श मानते है और उनके काम को सही बताते है तो काँग्रेस पार्टी और अन्य राजनीति पार्टी के समर्थक मोदी जी को अंधभक्त के पिता कहते हैं।

अंधभक्त की परिभाषा क्या है

राजनीति के अंदर जो लोग बीजेपी पार्टी अथवा हमारे देश के माननीय प्रधानमंत्री जी को अपना आदर्श मानते है उन्हे अंधभक्त कहते है। अंधभक्त की परिभाषा भाजपा पार्टी और माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का आँख मूंदकर समर्थन करना है।

अंधभक्त कौन होते हैं

भाजपा पार्टी की हर एक बात का समर्थन करने वाले और नरेंद्र मोदी जी की को अपना आदर्श मानकर उनके द्वारा देशहित में किए गए काम का समर्थन करने वाले बीजेपी के समर्थक अंधभक्त होते है।

अंधभक्त क्या होता है

अंधभक्त तीन प्रकार की आत्मा इंसान, गधा और कुत्ते से बना एक इंसान होता है जो देखने में इंसान जैसा होता है परंतु उसके दिमाग गधे जितना सा होता है परंतु भौंकता कुत्ते की तरह है। ऐसा काँग्रेस के लोग बीजेपी के समर्थकों को कहते है।

अंधभक्त का अर्थ

अंधभक्त का अर्थ किसी पर अंधी श्र्धा से है वहीं राजनीति के अंदर अंधभक्त का अर्थ जो लोग बीजेपी पार्टी अथवा हमारे देश के माननीय प्रधानमंत्री जी को अपना आदर्श मानते है।

आपका एक शेयर हमारे लिए कीमती है कृपया शेयर जरूर करें
Default image
पवन सिंह शेखावत
नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम पवन सिंह है, मैंने कंप्यूटर साइन्स के अंदर अपनी स्नातक की डिग्री पूरी की है। मुझे इंटरनेट, टेक्नॉलजी, कंप्यूटर के बारे में जानने की काफी ज्यादा दिलचस्पी है, जिस कारण मैंने इस ब्लॉग को बनाया है जिसमें आपको इंटरनेट, टेक्नॉलजी, कंप्यूटर, मोबाइल, टिप्स ट्रिक्स तथा ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीकों के बारे में बताने वाला हूँ। अगर आपको मेरे आर्टिक्ल पसंद आते है तो मुझे Social Media पर Follow जरूर कर लें।
Articles: 98

5 Comments

  1. आपने बहुत ही अच्छी जानकारी हमारे साथ में शेयर की है। आभार आपका

Leave a Reply